ग्राम पंचायत मनरेगा की जानकारी 2021 : देखे आसानी से

भारत का आज  भी  एक बड़ा तबका  ग्रामीण इलाकों में निवास करता है, जो अधिकतर गरीब एवं बेरोजगार होते हैं | इसे ध्यान में रखते हुए तत्कालीन सरकार ने उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए राष्ट्रीय रोजगार गारंटी अधिनियम ((NREGA) को लागू किया |

 इसका मूल उद्देश्य प्रत्येक परिवार के सदस्य को रोजगार की गारंटी प्रदान करना है | आज पूरे भारत में  नरेगा सफलतापूर्वक लागू है, आज इस पोस्ट में ग्राम पंचायत मनरेगा की जानकारी पूरे विस्तार से आपको  मुहैया  कराएंगे |  यदि आप नरेगा  के विषय में जाना चाहते हैं तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर  पढ़ें | 

Contents hide
1 मनरेगा क्या है?

मनरेगा क्या है? 

मनरेगा भारतीय संसद द्वारा  अधिनियमित एक रोजगार गारंटी योजना है |  जो देश के ग्रामीण परिवार के वयस्क सदस्य को  एक वित्तीय वर्ष में 100 दिन की रोजगार की गारंटी  सुनिश्चित करता है | नरेगा योजना ग्रामीण क्षेत्र का विकास  तथा इसके साथ ही ग्रामीण लोगों को रोजगार भी उपलब्ध कराता है |

ग्राम पंचायत मनरेगा की जानकारी

ऑफिसियल साइटक्लिक करें
लॉन्चिंग डेट2 फरवरी 2006
मनरेगा का उद्देश्य100 दिन की रोजगार की गारंटी कराना
मनरेगा की मजदूरी  देखेंक्लिक करें
मनरेगा की लिस्टक्लिक करें
केंद्रीय योजना

मनरेगा का पूरा नाम क्या है?

मनरेगा को पहले  राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (NREGA) के नाम से जाना जाता था जिसे बाद में मनरेगा (MNREGA) नाम दिया गया | 

मनरेगा को हम  महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (MGNREGA) के नाम से जानते हैं |

MGNREGA का फुल फॉर्म 

 MAHATMA GANDHI NATIONAL RURAL EMPLOYMENT GUARANTEE ACT 

NREGA का फुल फॉर्म 

NREGA – NATIONAL RURAL EMPLOYMENT GUARANTEE ACT

  1. नरेगा योजना का नाम बदलकर मनरेगा कब किया गया ?

          राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के जयंती  के शुभ अवसर पर 2009 में नरेगा का नाम बदलकर मनरेगा कर दिया गया |  2 अक्टूबर 2009 से  नरेगा मनरेगा के नाम से जाना जाने लगा

मनरेगा की शुरुआत कहाँ से हुई?

7 सितंबर 2005 को संसद में पारित अधिनियम  से नरेगा को कानून बना दिया गया जिसके बाद 2 फरवरी 2006 को  आंध्र प्रदेश के अनंतपुर में इसकी शुरुआत हुई | 

शुरुआत में इसे देश के 200 अति  पिछड़े जिलों में लागू किया गया इसकी सफलता को देखते हुए अगले वित्तीय वर्ष में  130  और जिलों में भी इसकी शुरुआत की गई । 

आज भारत के सभी 593 जिलों में मनरेगा को सफलतापूर्वक चलाया जा रहा है ।

मनरेगा का उद्देश्य क्या है?

 भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करने वाले निम्न आय वर्ग के प्रत्येक व्यक्ति को  एक वित्तीय वर्ष में 100 दिन के रोजगार की गारंटी देना जिससे वे अपनी आजीविका के साथ-साथ अपनी आर्थिक स्थिति भी मजबूत कर सकें |

 इसके साथ ही मनरेगा का मुख्य उद्देश्य  ग्रामीण  क्षेत्रों में पंचायत स्तर पर  रोजगार उपलब्ध कराना है , जिससे काम की तलाश में शहरों में जाने वाले व्यक्तियों का पलायन रोका जा सके |

  1. मनरेगा के नियम क्या है?

मनरेगा के नियम 2021 के अंतर्गत  100 दिन रोजगार की गारंटी प्रदान की जाती है | मजदूरी का भुगतान सीधे उनके बैंक खाते में किया जाता है |

यदि आवेदन करने के 15 दिनों के अंदर कार्य नहीं उपलब्ध कराए जाते हैं तो आवेदन करने वाले व्यक्ति को भत्ता भी मिलेगा | 

मनरेगा के अंतर्गत कार्य करने वाले  वाले श्रमिकों को उनके निवास स्थान से 5 किलोमीटर के क्षेत्रफल के अंदर  कार्य उपलब्ध कराया जा सकता है | 

  1. नरेगा का काम क्या होता है?

मनरेगा के तहत कौन-कौन से कार्य किए जाते हैं?  मनरेगा के तहत  कराए जाने वाले कार्यो की सूची निम्न है 

  • भूमि समतलीकरण का कार्य
  • नरेगा के तहत वृक्षारोपण का कार्य
  • बागवानी निर्माण का कार्य 
  • आवास निर्माण में कुशल  व अ‍ॅकुशल मजदूरी का कार्य
  • जल संरक्षण हेतु पोखरा, तालाब खुदाई का कार्य
  • ग्रामीण संपर्क मार्ग निर्माण का कार्य
  • बाढ़ नियंत्रण हेतु चकबंध निर्माण का कार्य 

मनरेगा के लाभ 

मनरेगा के अंतर्गत कार्य करने वाले प्रत्येक कुशल कुशल श्रमिकों को निम्न लाभ  मिलते हैं –

  • मनरेगा में प्रत्येक व्यक्ति को 100 दिनों की रोजगार की गारंटी मिलती है
  •  नरेगा में मिलने वाली मजदूरी बैंक खाते में प्राप्त होती है
  • मनरेगा का  कार्य  निवास स्थान से  5 किलोमीटर के अंतर्गत होता है
  •  यदि कोई व्यक्ति कार्य के लिए आवेदन करता है तो उसे 15 दिनों के अंतर्गत रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा अन्यथा की स्थिति में राज्य सरकार द्वारा बेरोजगारी भत्ता भी  मिलेगा । 

राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम 2005 की मुख्य विशेषताएँ क्या हैं?

  1. मनरेगा प्रत्येक वित्तीय वर्ष में प्रत्येक आवेदक को 100 दिन की रोजगार की गारंटी देता है |
  2. यदि आवेदक को 15 दिनों के अंदर रोजगार उपलब्ध नहीं होता है तो  इसमें बेरोजगारी भत्ते का भी प्रावधान किया गया है |
  3. इस पर खर्च होने वाली धनराशि का 90% केंद्र सरकार द्वारा वहन किया जाता है |
  4. इसका 60% श्रम पर और 40% सामग्री पर खर्च होता है |
  5. इसमें 33% भागीदारी महिलाओं की सुरक्षित रखी गई है |
  6. संसद द्वारा पारित इस रोजगार गारंटी योजना को अधिनियमित कर दिया गया है और अब यह एक कानून बन गया है |
  7. विश्व में  ऐसा पहला अधिनियम  है जो भारत में  लागू है | 

मनरेगा का लिस्ट कैसे चेक करें?

यदि आप भी सोचते हैं कि मनरेगा जॉब कार्ड लिस्ट कैसे चेक करें? नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट कैसे देखते हैं?  तो नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2021 देखने के लिए  नीचे दिए गए चरण  को देखें –

  • पहले मनरेगा की ऑफिशियल साइट पर जाएं  
ग्राम पंचायत मनरेगा की जानकारी
nrega
  • अब आपके सामने होम पेज खुल जाएगा |
  • NREGA JOB CARD LIST के लिए Panchayats GP/PS/ZP टैब पर क्लिक करें |
ग्राम पंचायत मनरेगा की जानकारी
mnrega
  • अब आप अपने ग्राम पंचायत , पंचायत समिति या जिला पंचायत का चुनाव कर सकते हैं 
  •  ग्राम पंचायत की लिस्ट देखने के लिए ग्राम पंचायत पर क्लिक करें
  • अब आपके सामने कई चीजें दिख जाएंगे  जिसमें जनरेट रिपोर्ट पर क्लिक करें 
ग्राम पंचायत मनरेगा की जानकारी
nrega
ग्राम पंचायत मनरेगा की जानकारी
loging

  • अपने राज्य का चुनाव करें 
  • फिर लॉग इन फॉर्म में वित्तीय साल , अपना जिला , ब्लाक , फिर पंचायत का चुनाव करते हुवे proceed पर क्लिक करें 
  • अब आपके सामने उपलब्ध सभी सूचनाएं दिख जाएँगी 
  • जिसमे Job card/Employment Register पर क्लिक करें 
ग्राम पंचायत मनरेगा की जानकारी
report

नरेगा जॉब कार्ड की लिस्ट 2021 में अपना नाम कैसे देखें?

आप भी नरेगा में अपना पंजीकरण करा चुके हैं और अपना नाम नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट में  देखना चाहते हैं  तो  नीचे दिए गए  ऑप्शन  को चुने

  1. ऑफिशियल साइट पर जाएं |
  2.  Panchayats GP/PS/ZP  टैब पर क्लिक करें |
  3.  फिर जनरेट रिपोर्ट पर क्लिक करें |
  4.  अपने राज्य को चुने |
  5.  वित्तीय साल ,  अपने जिले और ब्लॉक का चुनाव करते हुए पंचायत को  चुने | 
  6.  जैसे ही आप प्रोसीड करेंगे आपके सामने एक नया पेज ओपन हो जाएगा |
  7. फिर आप Job Card Related Reports  में  छठे नंबर पर  Registration Application Register पर क्लिक करें |
  8. अब आपके सामने Nrega Job Card list खुल जाएगी जिसमें आप अपना नाम देख सकते हैं |
ग्राम पंचायत मनरेगा की जानकारी
register

जॉब कार्ड नंबर कैसे निकाले?

  • ऑफिशियल साइट पर Panchayats GP/PS/ZP  टैब पर क्लिक करें
  •  अब जनरेट रिपोर्ट पर क्लिक करते हुए अपने राज्य का चुनाव करें
  •  फिर वित्तीय साल अपने जिले और ब्लॉक को चुनते हुए ग्राम पंचायत का चुनाव करें
  •  अब  प्रोसीड पर क्लिक करेंगे  आपके सामने उपलब्ध सर्विसेस की लिस्ट खुल जाएगी
  •  फिर जाब कार्ड रिलेटेड रिपोर्ट्स के अंतर्गत  पांच नंबर पर Job card/Employment Register पर क्लिक करें |
  •  अब आप अपना जॉब कार्ड नंबर देख सकते हैं |
ग्राम पंचायत मनरेगा की जानकारी
job card

जॉब कार्ड कैसे निकाले?

यदि आपका Mnrega में जॉब कार्ड रजिस्ट्रेशन हो चुका और आप नरेगा लिस्ट में अपना नाम कैसे देखें 2021?  जान चुके हैं  और अपना जॉब कार्ड  पाना चाहते हैं  तो नीचे बताए गए तरीके को अपनाकर अपना जाब कार्ड घर बैठे प्राप्त कर सकते हैं –

  • सबसे पहले आपको मनरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा |
  •  फिर Panchayats GP/PS/ZP वेब पर क्लिक करते हुए अपने ग्राम पंचायत , क्षेत्र पंचायत  या जिला पंचायत का चुनाव करें|
  • फिर जनरेटर रिपोर्ट लिंक पर क्लिक करें |
  • अपने राज्य का चुनाव करते हुए अपने जिले ब्लॉक और ग्राम पंचायत का चुनाव करें |
  • अब आप Job Card Related Services में Print/ Issue Job Card लिंक पर क्लिक करें | 
  • यदि आपको अपना रजिस्ट्रेशन नंबर पता है तो Individual  को चुने
  •   यदि आपको अपना रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं पता है तो Whole Panchayat को चुने
  •  इस प्रकार आप अपना जॉब कार्ड प्रिंट कर सकते हैं आप चाहें तो इसे डाउनलोड करके रख भी सकते हैं |

जॉब कार्ड के लिए क्या क्या कागज चाहिए?

  • आवेदक का पासपोर्ट साइज फोटो
  •  आवेदक का मोबाइल नंबर
  •  आवेदक के परिवार के सभी सदस्यों का आधार कार्ड की छायाप्रति 
  •  आवेदक  द्वारा भरा हुआ अप्लीकेशन फार्म
  • राशन कार्ड की छाया प्रति

नरेगा जॉब कार्ड कैसे बनवाएं ?

यदि आप काम की तलाश में हैं और आप नरेगा के तहत कार्य करने की इच्छुक हैं  और अभी तक आपका नरेगा जॉब कार्ड नहीं बना है ,  तो नीचे बताए गए तरीके को अपनाकर आप अपना जॉब कार्ड बना सकते हैं –

  • आप अपने नजदीकी ग्राम पंचायत कार्यालय में जाएं
  •  ग्राम प्रधान से या ग्राम सचिव से  नरेगा जॉब कार्ड के विषय में पूछें
  •  ग्राम सचिव या ग्राम प्रधान आपसे अपना डॉक्यूमेंट जैसे आधार कार्ड की फोटो प्रति एक पासपोर्ट साइज फोटो और मोबाइल नंबर लेगा
  •  तत्पश्चात 1 से 2 दिन के अंदर आपका नरेगा ने सफलतापूर्वक पंजीकरण करके आपका जॉब कार्ड बन जाएगा

जॉब कार्ड क्या है इसे कैसे प्राप्त किया जाता है?

मनरेगा में पंजीकृत सभी कुशल एवं अकुशल श्रमिकों को एक जॉब कार्ड ( रोजगार पत्र ) जारी किया जाता है,  जिसमें उनके परिवार के सभी पंजीकृत सदस्यों का विवरण  दर्ज होता है |  जैसे उनका नाम मुखिया से संबंध ,  पुरुष या महिला ,  उनकी उम्र आदि |  

जाब कार्ड  की वैधता 5 साल की होती है उसके बाद इस 1 महीने के अंदर  रिन्यू  करना होता है | जाब कार्ड को ग्राम पंचायत कार्यालय से प्राप्त किया जाता है |

नरेगा में काम के लिए आवेदन कैसे करें?

यदि आप कुशल  या अकुशल श्रमिक हैं  और आप नरेगा के तहत पंजीकृत हैं,  ऐसी स्थिति में आप काम के लिए आवेदन फार्म भरकर ग्राम पंचायत कार्यालय में जमा कर सकते हैं या फिर कार्यक्रम अधिकारी से काम की डिमांड कर सकते हैं |

आपके द्वारा काम करने की समय अवधि कम से कम 14 दिनों की होगी | आवेदन किसी भी दिन किसी भी समय ग्राम पंचायत कार्यालय या ब्लॉक स्तर पर जमा किया जा सकता है | 

 इसके बाद कार्यक्रम अधिकारी की जिम्मेदारी होगी कि वह आपको काम उपलब्ध कराएं आवेदन के 15 दिनों के भीतर  काम उपलब्ध नहीं कराया जाता है तो राज्य सरकार द्वारा आपको बेरोजगारी भत्ते का भुगतान किया जा  सकता है |

मनरेगा गरीबों को कितने दिन की जॉब गारन्टी देता है?

मनरेगा प्रत्येक परिवार के एक सदस्य को 100 दिनों की रोजगार की गारंटी देता है यदि कोई आवेदक रोजगार के लिए आवेदन करता है और इस स्थिति में यदि उसे 15 दिनों के अंदर काम उपलब्ध नहीं कराया जाता है तो राज्य सरकार द्वारा रोजगारी भत्ता का प्रावधान है |

मनरेगा का कार्य आवेदक के निवास स्थान से 5 km के दायरे में हो  सकता है । 

मनरेगा की मजदूरी कितनी है?

मनरेगा की मजदूरी प्रत्येक राज्य में अलग-अलग है | प्रत्येक राज्य की भौगोलिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार द्वारा मजदूरी की दर को निर्धारित किया जाता है |

 समय-समय पर इसमें बढ़ोतरी भी की जाती है | नीचे की लिस्ट से अपने राज्य की मजदूरी की दर आसानी से  देख सकते हैं |

राज्यदर
  उत्तर प्रदेश204 Rs
बिहार198 Rs
मध्य प्रदेश193 Rs
महाराष्ट्र248 Rs
पंजाब269 Rs

राज्य के अनुसार मनरेगा की मजदूरी कितनी है ?  देखने के लिए क्लिक करें

जॉब कार्ड का पैसा कैसे चेक करें?

यदि आप भी मनरेगा का पेमेंट कैसे चेक करें?  नरेगा पेमेंट कैसे देखें 2021?  बारे में जानकारी  नीचे दिए गए तरीके  अपनाएं –

  • सबसे पहले नरेगा की ऑफिशियल साइट पर जाएं |
  •  होम पेज पर Transparency & Accountability सेक्शन में Job Card  पर क्लिक करें |
  • अब अपने राज्य का चुनाव करें
  •  फिर  वित्तीय साल अपने जिले और ब्लॉक और पंचायत को चुने | 
  •  अब आपके सामने जॉब कार्ड की लिस्ट खुल जाएगी
  •  आप अपनी जॉब कार्ड नंबर पर क्लिक करके  पूरी डिटेल  जैसे आपने कितना काम किया है कब  कब काम किया है,  किस काम पर कार्य किया है से संबंधित सारी डिटेल खुल जाएगी 
  • आपको भुगतान किया गया अमाउंट का विवरण भी दिख जाएगा |
  • नरेगा में हाजिरी कैसे चेक करें?

यदि आप नरेगा के तहत कार्य किया है और  और आप अपना Nrega Attendance चेक करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए तरीके अपनाएं

  1.  ऑफिशियल साइट पर जाएं |
  2. Panchayats GP/PS/ZP टैब पर क्लिक करें
  3.  जनरेट रिपोर्ट पर क्लिक करते हुए अपने राज्य का चुनाव करें
  4. फिर अपना जिला, ब्लॉक  तथा पंचायत चुने
  5.  अब आपके सामने जॉब कार्ड रिलेटेड सर्विसेज खुल जाएंगे
  6.  जिसमें पांचवें लिंक पर Job card/Employment Register पर क्लिक करें
  7. अब आप अपने जॉब कार्ड नंबर  पर क्लिक करें
  8.  इस प्रकार आप  नरेगा की हाजिरी  देख सकते हैं |

नरेगा की शिकायत कैसे करे?

यदि आप का पंजीकरण ग्राम पंचायत में नहीं हो रहा है, फिर आपको अपना जॉब कार्ड नहीं मिल रहा है तो ऐसी  स्थिति में आप घर बैठे अपने मोबाइल से नरेगा शिकायत सेल में इसकी शिकायत कर सकते हैं |

प्रत्येक राज्य में अलग-अलग शिकायत सेल नंबर जारी किया गया है इसकी लिस्ट नीचे दी गई है –

 महत्वपूर्ण प्रश्न 

मनरेगा का पैसा कब आएगा?

मनरेगा का पैसा मस्टर रोल  फील होते ही FTO जारी कर करने  पर  अधिकतम 7 कार्य दिवस के भीतर लाभार्थी के बैंक खाते में भेज  दिया जाता है  लेकिन कभी-कभी राज्य सरकार के पास फंड नहीं होने की दशा में  देरी भी हो सकती है ।

मनरेगा का पैसा क्यों नहीं आ रहा है?

कभी-कभी फंड अवेलेबल ना होने की दशा में मनरेगा का पैसा आने में महीनों लग जाते हैं ।  ऐसा  प्रायः होता नहीं  है । 

नरेगा का पेमेंट कितने दिन में आता है?

नरेगा का पेमेंट FTO जारी होने से अधिकतम 7 कार्य दिवस के अंदर दिए गए बैंक खाते में कर दिया जाता है |

क्या आपको लगता है कि नरेगा 2005 को काम के अधिकार के रूप में संदर्भित किया जाता है?

जी हां !  नरेगा संसद द्वारा पारित किया गया कानून है  जो अधिकार के रूप में अधिनियमित है |

मनरेगा में कितने घंटे काम किया जाता है?

 नरेगा में अधिकतम 6 घंटे का कार्य किया जाता है जिसमें आधा घंटा का रेस्ट भी दिया जाता  है

महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार योजना में महिलाओं के लिए कितना रोजगार सुरक्षित रखा गया?

मनरेगा में महिलाओं की आर्थिक स्थिति को देखते हुए 33%  जो लगभग एक तिहाई होता है ग्रामीण क्षेत्रों के 18 से 50 वर्ष की महिलाओं के लिए निर्धारित किया गया  है |

आज इस पोस्ट में ग्राम पंचायत मनरेगा की जानकारी के विषय में विस्तार पूर्वक बताया गया है |  आपको यह पोस्ट कैसा लगा हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं यदि आप कुछ पूछना चाहते हैं आप कोई सुझाव है तो हमें कमेंट अवश्य करें |  

इसी प्रकार की अन्य योजनाओं के बारे में हमारी वेबसाइट graminyojana.com  को देखते रहे |

Leave a Reply