Chhattisgarh godhan nyay yojana क्या है? कैसे मिलेगा लाभ?

chhattisgarh godhan nyay yojana

Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana की शुरुआत  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लोक पर्व हरेली के शुभ अवसर पर की |

मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना की शुरुआत सांकेतिक रूप से गोबर खरीद कर किया , जिसमें किसानों से 2 रुपये किलो गोबर ख़रीदा जायेगा जिससे जैविक खाद तैयार की जाएगी |   पूरे भारत देश में CG Godhan Nyay ऐसी पहली योजना है जिसमें किसानों से गोबर खरीदकर खाद बनायी जाएगी | 

मुख्यमंत्री ने कहा की Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana प्रदेश में रोज़गार के साथ- साथ गाँव की आर्थिक स्थिति के अलावा पर्यावरण में भी सुधार लाएगी |

Chhatisgarh Godhan Nyay Yojana 2020 

20 जुलाई 2020 को शुरू की गयी गोधन न्याय  योजना में गोबर की खरीद गोठान कमेटी करेगी जो 2 रुपये प्रति किलो की दर से होगा | उसके बाद महिलाओं की स्वयं सहायता समूहों द्वारा कम्पोस्ट खाद तैयार की जाएगी, और फिर सरकार उसे 8 रुपये प्रति किलो की दर से खरीदेगी जिसका उपयोग अन्य सामग्री (जो गोबर से बनती है ) में होगा |

 पर्यावरण और कृषि से जुड़े पर्व हरेली की छत्तीसगढ़ में काफी मान्यता है इसलिए इस योजना की शुरुआत के लिए इसे चुना गया | प्रदेश में सुराजी योजना के तहत 5000 से ज्यादा गोठान निर्माण की अनुमति पहले ही दी जा चुकी है |

प्रधानमंत्री योजना लिस्ट

CG Godhan Nyay Yojana की कुछ रोचक तथ्य

  • यह योजना पशुपालको हेतु पुरे देश की इकलौती योजना है |
  • दो चरणों में चलायी जाने वाली इस योजना में पहले 2240 गोठान जुड़ेंगे दूसरे चरण में और 2800 जल्द ही गोबर की खरीद करेंगे |
  • इसमें गोठान समिति  किसानों का गोबर 2 रुपये किलो की दर से खरीदेगी |
  • स्वयं सहायता समूहों द्वारा वर्मी कम्पोस्ट तैयार किया जायेगा |
  • इन समूहों से तैयार कम्पोस्ट सरकार 8 रुपये प्रति किलो खरीदेगी |
  • पशुपालको की आय में वृद्धि होगी |
  • प्रदेश सरकार सभी 11630 ग्राम पंचायतों की सभी 20000 गाँवों में गोठान समिति स्थापित करेगी |
  • कोरोना जैसी महामारी के समय  chhatisgarh godhan nyay yojana वरदान साबित होगी |

छत्तीसगढ़ गोधन योजना के लाभ 

  • किसानों व पशु पालने वालों की आय में वृद्धि 
  • खुले में पशुओं के चराने पर रोक
  • जैविक खाद के उपयोग से रासायनिक खाद के प्रयोग में कमी 
  • भूमि की उर्वरा शक्ति में सुधार होगा 
  • रवि व खरीफ फसलों की सुरक्षा से फसल क्षेत्र बढ़ेगा
  • जैविक खाद के उपयोग से मानव स्वास्थ्य में सुधार होगा 
  • रोज़गार के अवसर उपलब्ध होंगे 

गोधन न्याय योजना की पात्रता 

  • आवेदक छत्तीसगढ़ राज्य का निवासी होना चाहिए |
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक लघु एवं सीमांत किसान होना चाहिये |
  • सरकार एक कार्ड जारी करेगी जिसमें पशुओं की जानकारी देनी होगी |
  • आधार कार्ड आवेदक के पास होना चाहिए |

गोधन न्याय योजना हेतु ऑनलाइन आवेदन 

Chhattisgarh godhan nyay yojana 20 जुलाई 2020 को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा हरेली के पर्व पर हाल ही में शुरू की योजना है | 

 अभी तक इसका कोई भी ऑनलाइन पोर्टल या साईट जारी नहीं किया गया है | जैसे ही कोई भी नयी अपडेट या साईट लांच होगी हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से अपडेट करा देंगे |

Leave a Reply