(UP) विकलांग प्रमाण पत्र Online आवेदन कैसे करें? Dibyang Certificate 2021

दिव्यांग सर्टिफिकेट कैसे बनवाएं? विकलांग प्रमाण पत्र फार्म PDF , विकलांग प्रमाण पत्र , विकलांग प्रमाण पत्र online, विकलांग प्रमाण पत्र को ऑनलाइन कैसे करें? 

एक सामान्य व्यक्ति की तुलना में विकलांग व्यक्ति या दिव्यांग  व्यक्ति को हर जगह कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है  सामान्यत: दिव्यांग व्यक्ति सरकार द्वारा चलाई जा रही किसी भी योजना का लाभ भी आसानी से नहीं ले सकता |

 इसके लिए उसे विकलांग प्रमाण पत्र की आवश्यकता पड़ती है |  और विकलांग प्रमाण पत्र को बनवाने हैं उसको दर-दर भटकना पड़ता है और अंत में थक हारकर अपने आप को कोसने के सिवा उसके पास कुछ और नहीं बचता |

 इसे ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने विकलांग प्रमाण पत्र बनवाने की प्रक्रिया को ऑनलाइन कर दिया है 

1 अप्रैल से इसकी सुविधा भी शुरू हो गई है फिर भी आप भी अपने परिचितों या अपना स्वयं का ज्ञान प्रमाण पत्र बनवाना चाहते हैं तो इस पोस्ट में उसकी सारी प्रक्रिया  बताई गई हैविकलांग सर्टिफिकेट के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए?

Contents hide

 शारीरिक विकलांगता क्या है?

यदि किसी व्यक्ति का कोई भी अंग सामान्य व्यक्ति की तुलना में ठीक ढंग से कार्य नहीं करता है या कोई विकार है चाहे वह जन्मजात हो या किसी दुर्घटना के कारण उसमें किसी प्रकार की अपंगता है तो वह शारीरिक विकलांगता के अंतर्गत आती है |

शारीरिक विकलांगता में मूकबधिर , लंगडाना , अंधापन , बहरापन तथा मानसिक रूप से मंद आदि विकृतियाँ आती हैं 

विकलांग प्रमाण पत्र Online हेतु आवश्यक दस्तावेज 

  • निवास प्रमाण पत्र
  •  उम्र संबंधित प्रमाण पत्र
  •  मोबाइल नंबर
  •  आधार कार्ड की फोटो कॉपी
  •  पासपोर्ट साइज फोटो
  • सीएमओ द्वारा प्रमाणित  मेडिकल रिपोर्ट

दिव्यांग प्रमाण पत्र की पात्रता 

दिव्यांग सर्टिफिकेट बनवाने के लिए कुछ महत्वपूर्ण  पात्रता  की शर्ते हैं

  1.  बहरापन –  ऐसा व्यक्ति जो 90 db से कम की ध्वनि को नहीं  सुन सकता
  2.  मूक बधिर
  3.  दृष्टिहीन या दृष्टि बाधित 
  4. मंदबुद्धि या मानसिक विक्षिप्त 
  5. शारीरिक अपंगता जिसमें व्यक्ति हाथ या पाव में विकार 

विकलांग प्रमाण पत्र को ऑनलाइन कैसे करें?

विकलांग प्रमाण पत्र online बनवाने के लिए निम्न चरण अपनाए – 

  1. Official site पर जायें 
  2.  जैसे ही आप सिटीजन लॉगइन लिंक पर क्लिक  करेंगे आपके सामने नया  पेज ओपन हो जाएगा
  3.  अब नवीन उपयोगकर्ता पंजीकरण  पर क्लिक करें 
विकलांग प्रमाण पत्र online
  1. अब आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा जिसमे लॉग इन आईडी , आवेदक का नाम , जन्मतिथि , पता जैसी जानकारी भरें 
  2. अंत में captcha भरें और सेव पर क्लिक करें 
  3. अब आपके मोबाइल नंबर पर यूजर आईडी और otp आयेगा 
  4. अब अपने यूजर आईडी और otp से लॉग इन करें 
  5. अब आपके सामने उपलब्ध सेवाओ की पूरी सूचि खुल जाएगी 
  6. आवेदन पत्र कॉलम में दिब्यांग प्रमाण पत्र पर क्लिक करें 
विकलांग प्रमाण पत्र online
  1. अब आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलेगा जिसमें प्रार्थी का नाम , पिता का नाम , माता का नाम , विकलांगता प्रतिशत आदि विवरण भरें 
विकलांग प्रमाण पत्र online
  1. अपना फोटो अपलोड करें 
  2. स्वप्रमाणित घोषणा पत्र अपलोड करें 
  3. दिब्यांगता समबन्धित प्रमाण पत्र लगायें और सबमिट करें 
  4. अंत में फीस जमा करें 

इस प्रकार आपका आवेदन सफलता पूर्वक हो जायेगा 

इसे पढ़े

विकलांगता प्रमाण पत्र स्थिति

Viklang praman patra देखने के लिए 

  • सबसे पहले अधिकारिक साईट पर जाएँ 
  • Home page पर ‘आवेदन की स्थिति’ पर क्लिक करें 
  • अपना application number डालें 
  • अब सर्च पर क्लिक करें 
  • अब आपके सामने पूरा विवरण खुल जाएगा 

विकलांग सर्टिफिकेट डाउनलोड

  • दिए गए लिंक पर क्लिक करें  जिससे आप होम पेज पर पहुंच जाएंगे     CLICK HERE 
  • अब अपने यूजर आईडी और पासवर्ड से लॉगिन करें
  • जैसे ही आप लॉगिन करेंगे आपके सामने नया पेज ओपन हो जाएगा जिसमें सारी सर्विसेस सूचीबद्ध होंगे
  •  बाएं तरफ मीनू टैब में निस्तारित आवेदन पर क्लिक करें
  • अब आपके सामने  आपको प्रमाण पत्र दिख जाएगा जिसको आप डाउनलोड कर सकते हैं

विकलांग सर्टिफिकेट ऑनलाइन चेक UP

 विकलांग प्रमाण पत्र online चेक करने के लिए

  • सबसे पहले ऑफिशियल साइट पर जाएं
  • होम पेज पर प्रमाण पत्र का सत्यापन लिंक पर क्लिक करें
  • फिर  पाप अप विंडो में  अपना अप्लीकेशन नंबर और सर्टिफिकेट नंबर इंटर करें
  • फिर सर्च बटन पर क्लिक करें
  •  आपके सामने आपके सर्टिफिकेट से संबंधित सारी डिटेल खुल जाएगी

विकलांग सर्टिफिकेट ऑनलाइन के लाभ 

  • परिवहन निगम की बसों में निशुल्क यात्रा की सुविधा
  •  सरकारी नौकरियों में विशेष आरक्षण  का लाभ मिलता है
  • दिव्यांगजन पेंशन की सुविधा
  • रेलवे किराया में छूट
  • गांव समाज की जमीन आवंटन में दिव्यांग जनों को प्राथमिकता
  •  किसी प्रकार के आवेदन करते समय आवेदन शुल्क में छूट
  • शैक्षिक संस्थानों में  विकलांग प्रमाण  पत्र  जमा करने पर  आरक्षण का लाभ छात्रवृत्ति की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है

विकलांगों के लिए कौन कौन सी योजनाएं?

 उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा दिव्यांग जनों के लिए  कई लाभकारी योजनाएं  चलाई जा  रही हैं 

  • दिव्यांग पेंशन योजना
  •  कुष्ठ अवस्था पेंशन योजना
  • शादी विवाह प्रोत्साहन पुरस्कार योजना
  • दुकान निर्माण योजना
  • शल्य चिकित्सा योजना
  • सरकारी बसों में निशुल्क यात्रा
  •  राज्य स्तरीय पुरस्कार योजना
  • कृत्रिम अंग सहायक उपकरण योजना 

पीएच प्रमाण पत्र क्या है?

पीएच (PH)  , फिजिकल हैंडीकैप (physical handicap)  का शॉर्ट फॉर्म है |  जिसका अर्थ शारीरिक रूप से  अपंग |  पीएच प्रमाण पत्र, विकलांगता प्रमाण पत्र का अंग्रेजी रूपांतरण है |

 विकलांगता प्रमाण पत्र  या  पीएच प्रमाण पत्र  या फिजिकल हैंडीकैप (physical handicap) प्रमाण पत्र एक ही हैं | और अब प्रधानमंत्री ने विकलांग व्यक्तियों के लिए दिव्यांग शब्द का प्रयोग शुरू किया है |

विकलांग कितने प्रकार के होते हैं?

 दिव्यांगता के प्रकार 

  1. दृष्टिबाधित विकलांगता  – ऐसे व्यक्ति जिनकी आंखों से कम दिखाई देता है या एकदम भी नहीं दिखता दृष्टि बार विकलांगता के अंतर्गत आते हैं इनका कम दृष्टि विकलांगता प्रमाण पत्र बनता है
  2.  बहरापन ऐसे व्यक्ति को सुन नहीं सकते आज उनके कानों से बहुत ही कम सुनाई देता है श्रवण विकलांगता के अंतर्गत आते हैं 
  3. गूंगा पन – ऐसे व्यक्ति जो बोल नहीं पाते या बोलने में अपनाने लगते हैं यह प्रक्रिया की समस्या होती है बोलने की विकलांगता के अंतर्गत आते हैं
  4. मानसिक विक्षिप्त –  यह व्यक्ति जिनकी समझने की क्षमता बहुत ही कम या मंदबुद्धि होते हैं मानसिक विक्षिप्त मानसिक विकलांगता के अंतर्गत आते हैं   इनका आइक्यू लेवल 70 से कम होता है
  5. लोकोमोटर विकलांगता क्या है? –  शरीर के अंगो का ठीक तरह से काम ना करना  | ऐसे व्यक्ति चलने फिरने में असमर्थ होते हैं | उनके पैरों में अपंगता के कारण एक जगह से दूसरी जगह जाने में समस्या होती है | 
  6.  कुष्ठ रोग से पीड़ित –  प्राय: ऐसे व्यक्तियों की चेहरे से हाथ तथा पैरों में सफेद धब्बे पड़ जाते हैं | 

दिव्यांग प्रमाण पत्र कौन बनाता है?

दिव्यांग प्रमाण पत्र जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (CMO)  या उसके द्वारा गठित डॉक्टरों की समिति द्वारा जारी किया जाता है | विकलांग प्रमाण पत्र जारी करने से पहले संबंधित व्यक्ति की  प्रभावित अंग की मेडिकल जांच की जाती है |

 मेडिकल जांच में अपंग पाए जाने पर ही संबंधित व्यक्ति का दिव्यांग प्रमाण पत्र जारी कर दिया जाता है जाए में लगभग 1 से 2 दिन का समय लगता है |

विकलांग की श्रेणी में कौन कौन आता है?

 सरकार द्वारा निम्नलिखित श्रेणियों को विकलांग की श्रेणी में माना गया है

  1. दृष्टिबाधित
  2. कम दृष्टि वाले व्यक्ति
  3.  मूक बधिर
  4.  श्रवण दोष
  5. लोकोमोटिव या चलने फिरने में अक्षम
  6.  बौनापन (147 CM  से कम)
  7. मंदबुद्धि
  8.  मानसिक विक्षिप्त
  9. कुष्ठ रोगी
  10. भाषा विकलांगता
  11.  गामक अक्षमता
  12. हीमोफीलिया
  13. थैलेसीमिया
  14. एसिड अटैक पीड़ित
  15. बहु अपंगता
  16. ऑटिज्म
  17. मल्टीपल सिरोसिस आदि

Divyang श्रेणी क्या है?

दिव्यांग श्रेणी के अंतर्गत 

  • शारीरिक विकलांगता,  
  • मानसिक विक्षिप्त, 
  • श्रवण एवं मूकबधिर अक्षमता आती है ,  

जो जन्मजात या जीवन  किसी दुर्घटना  के कारण  किसी अंग का ठीक  प्रकार से काम ना करने के कारण हो सकती है

शारीरिक रूप से विकलांग प्रमाण पत्र की वैधता

विकलांग प्रमाण पत्र की वैधता प्रायर 5 साल की अवधि के लिए निर्धारित की गई है परंतु यदि विकलांगता का प्रकार जैसे विकलांगता जो उपचार के बाद भी ठीक ना हो सके  तो ऐसी दशा में अस्थाई विकलांग प्रमाण पत्र जो उम्र भर के लिए मान्य होता है  जारी किया जाता है |

 विकलांग प्रमाण पत्र की वैधता का निर्धारण जिला स्वास्थ्य अधिकारी करता है यदि कोई अक्षमता उपचारात्मक है तो ऐसी दशा में विकलांग प्रमाण पत्र या दिव्यांग प्रमाण पत्र की अवधि अधिकतम 5 साल के लिए  होती है|

विकलांग पेंशन लिस्ट कैसे देखें?

  1. दिव्यांग पेंशन योजना उत्तर प्रदेश चेक करने के लिए SSPY पोर्टल पर जाएं

         पोर्टल पर जाने के लिए                क्लिक करें

  1. अब होम पेज पर दिव्यांग एवं कुष्ठ अवस्था पेंशन पर क्लिक करें
  2. अब आपके सामने पेंशनर सूची का एक बॉक्स दिखाई देगा
  3.  फिर आप जिस वर्ष की विकलांग पेंशन लिस्ट देखना चाहते हैं उस वित्तीय वर्ष में क्लिक करें
  4. अब आपके सामने एक नया PAGE ओपन होगा जिसमें अपने जिले पर क्लिक करें
  5.  फिर अपने अपने ब्लॉक का चुनाव करें,  अपने ग्राम पंचायत को चुने  अंत में अपने गांव पर क्लिक करें
  6.  अब आपके सामने कुल पेंशनर्स की लिस्ट  का एक कालम  दिखेगा जिस पर क्लिक करके आप अपने ग्राम की विकलांग पेंशन लिस्ट देख सकते हैं

विकलांग प्रमाण पत्र फार्म PDF up

विकलांग प्रमाण पत्र की ऑफलाइन प्रक्रिया को बंद कर दिया गया है 1 अप्रैल 2021 से विकलांग प्रमाण पत्र बनवाने की प्रक्रिया को ऑनलाइन कर दिया गया और ऑनलाइन प्रक्रिया ही अनिवार्य है

 विकलांग प्रमाण पत्र फार्म पीडीएफ  मेडिकल रिपोर्ट के लिए ही मान्य है नीचे दिए गए लिंक से डाउनलोड कर सकते हैं

विकलांग प्रमाण पत्र फार्म PDF        Download 

 महत्वपूर्ण लिंक 

आधिकारिक साइटक्लिक करें 
नया पंजीकरण करेंक्लिक करें 
आवेदन की स्थिति देखेंक्लिक करें 
  दिव्यांग प्रमाण पत्र का सत्यापन करेंक्लिक करें 
विकलांग पेंशन लिस्ट देखेंक्लिक करें 

 आपको विकलांग प्रमाण पत्र online आवेदन कैसे करें के बारे में लिखा गया पोस्ट कैसा लगा | मेरी आवेदन करने में कोई दिक्कत आए तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं | इस पेज को बुकमार्क जरूर करें और  अपने दोस्तों के साथ शेयर करें

FAQ

  1. प्रश्न – विकलांग पेंशन कब आएगी खाते में 2021?

       उत्तर – विकलांग पेंशन वृद्धावस्था पेंशन विधवा पेंशन के साथ ही प्रत्येक 3 महीने पर  लाभार्थी के खाते में DBT  के माध्यम से  जमा  हो जाती है

  1. प्रश्न – विकलांग सर्टिफिकेट कितने परसेंट का होना चाहिए?

       उत्तर –  विकलांग सर्टिफिकेट में विकलांगता प्रतिशत कम से कम 40% होना चाहिए अन्यथा की स्थिति में आप को किसी भी योजना का लाभ नहीं मिल सकता और आप विकलांग श्रेणी में नहीं आएंगे

  1. प्रश्न – विकलांग प्रमाण पत्र बनने में कितना समय लगता है?

       उत्तर – सामान्यत: आवेदन के 1 सप्ताह के अंदर  विकलांग प्रमाण पत्र जारी कर दिया जाता है |

Leave a Reply