हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट उत्तर प्रदेश ONLINE 2022

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट की फीस क्या है? हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट उत्तर प्रदेश online | मोटरसाइकिल का नंबर प्लेट ऑनलाइन कैसे करें? नंबर प्लेट के लिए कैसे आवेदन करें? High Security number plate online Apply

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट उत्तर प्रदेश online : देश में बढ़ते वाहनों की संख्या एवं वाहनों की चोरी को देखते हुए हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट प्रत्येक वाहन  दुपहिया हो या चार पहिया सब में अनिवार्य रूप से लगाना अनिवार्य कर दिया है |

 आपके पास  सभी यदि कोई बाइक या कार है  और आप अभी तक High security number plate नहीं लगा पाए हैं तो जल्द से जल्द हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवा ले नहीं तो भारी जुर्माना देना पड़ सकता है | 

High Security number plate online Apply up से संबंधित सारी जानकारी आज इस पोस्ट में हम आपको देने वाले हैं |  हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट से संबंधित जानकारी के लिए पोस्ट हुआ तो जरूर पढ़ें |

Contents show

हाई सिक्योरिटी नम्बर प्लेट क्या है?

<

High Security number plate अच्छी क्वालिटी का एक प्लेट होता है जिसमें क्रोमियम बेस्ट होलोग्राम स्टीकर को सेट किया जाता है इस होलोग्राम स्टीकर में वाहन से संबंधित जानकारी ऐसे चेचिस नंबर इंजन नंबर  और वाहन मालिक का सारा विवरण  लेजर मशीन द्वारा प्रिंटेड होता है ।

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट्स बनाते समय वाहन एवं वाहन मालिक  की सुविधा एवं सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाता है, इस प्लेट को वाहन में  पंचिंग  पिन  के जरिए फिट किया जाता है,  जिसे आसानी से नहीं निकाला जा सकता ।

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के फायदे

  • एचएसआरपी होलोग्राम स्टीकर में 7 अंकों का एक  यूनिक नंबर  होता है जिसमें वाहन से संबंधित सभी जानकारी लेजर बीम के जरिए इंगित की हुई होती हैं जो किसी भी हादसे के वक्त बहुत ही कारगर साबित होंगी
  •  क्रोमियम  बेस्ड होलोग्राम स्टीकर के  कारण इसे लेजर कैमरों के द्वारा रात में भी आसानी से पढ़ा जा सकता है ।
  • उच्च सुरक्षा पंजिका प्लेट लगे होने के कारण इसके साथ छेड़छाड़ नहीं हो सकती
  • प्रेशर मशीन से  नंबर लिखे जाने के  कारण नंबर उभरा हुआ होता है जिससे गाड़ी कितनी भी जल जाए मगर नंबर प्लेट को हाथ से छू कर भी नंबर जान सकते हैं
  • हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट का एक सेंट्रलाइज्ड डेटाबेस तैयार होगा जिससे देश भर में सभी वाहनों का रिकॉर्ड एक ही जगह उपलब्ध होगा

स्वयं सहायता समूह रजिस्ट्रेशन up 2022 : Swayam sahayata samuh list (SHG)

नंबर प्लेट नियम

मोटर व्हीकल एक्ट 1989 की आर्टिकल 50 के अनुसार सभी वाहनों का चाय व दोपहिया  या चार पहिया  हो  प्राइवेट वाहन या फिर कामर्शियल वाहन सभी वाहनों पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगाना अनिवार्य है |

 नवंबर 2022 के बाद हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट नहीं  लगे होने पर  पर जुर्माना भी लग सकता है | सभी वाहनों के एचएसआरपी प्लेट क्रोमियम वेस्ट होलोग्राम से बने होंगे इसके साथ ही नंबर को प्रेसिंग मशीन द्वारा फ्लैट पर छापा जाएगा |

नई नंबर प्लेट रूल्स उत्तर प्रदेश को और सख्त करते हुए सरकार ने आदेश दिया है कि बिना हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के गाड़ियों का ट्रांसफर  नही किया जाए इसके साथ ही बनने वाले ड्राइविंग लाइसेंस को भी रोका जाए |

नंबर प्लेट का क्या मतलब है? 

नंबर प्लेट एक चौकोर आकार का प्लेट होता है जिस पर गाड़ी का आरटीओ  से मिला पंजीकरण नंबर दर्ज होता है जिस नंबर से हम उसके मालिक का पूरा विवरण,  गाड़ी किस लिए प्रयोग होगी, गाड़ी का पंजीकरण कब तक मान्य होगा, गाड़ी किस कंपनी की है,  वाहन का इंश्योरेंस है कि नहीं आदि की जानकारी आसानी से मिल जाती है |

 यदि वहां चोरी हो जाता है या वाहन से आपराधिक गतिविधि की जाती है तो नंबर प्लेट पर लिखिए रजिस्ट्रेशन नंबर से  वह मालिक तक पहुंचना आसान हो जाता है |

नंबर प्लेट कितने प्रकार की होती है?

भारत में number plate  को सात अलग-अलग रंगों में विभाजित किया गया है जिसका विवरण निम्नलिखित है-

  1.  सफेद रंग की प्लेट (White Plate) – सफेद रंग की प्लेट का प्रयोग पर्सनल वाहनों के लिए किया जाता है यह प्राइवेट वाहन होते हैं जिसे आम  लोगों के लिए जारी किया जाता है इनका कमर्शियल प्रयोग नहीं होता है |
  2. काली प्लेट (Black Plate) –  इस रंग का नंबर प्लेट किसी खास कंपनी या व्यक्ति के लिए जारी किया जाता है |   जिसमें काली प्लेट पर पीले कलर से नंबर लिखा होता है  इनका प्रयोग कमर्शियल  होता है |
  3. पीले रंग की प्लेट (Yellow Plate) –  मिश्रण की प्लेट अक्सर आपने सड़क पर चलते हुए देखा होगा इनका प्रयोग व्यवसायिक होता है |  इस प्लेट का प्रयोगसवारी ढोने वाले वाहनों में किया जाता है |
  4. नीली प्लेट (Blue Plate) – विदेशी राजदूतों के लिए नीले रंग की प्लेट का इस्तेमाल किया जाता है जिस पर सफेद रंग में नंबर लिखा होता है |
  5. लाल प्लेट (Red Plate) –  लाल रंग की नंबर प्लेट पर  सुनहरे रंग का नंबर लिखा होता है जिस पर अशोक चिन्ह बनाता है इसका प्रयोग भारत के राष्ट्रपति तथा राज्यों के राज्यपाल द्वारा किया जाता है |
  6. तीर वाली नंबर प्लेट (Arrow Plate) – रक्षा मंत्रालय द्वारा जारी इस नंबर प्लेट का प्रयोग सैन्य वाहनों द्वारा किया जाता है इसमें तीसरे नंबर के स्थान पर ऊपर की ओर इशारा करते हुए तीर बना होता है |
  7.  हरा प्लेट ( Green Plate) –  इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए हरा प्लेट का नियम बनाया गया है जिस पर प्राइवेट या व्यवसायिक वान के हिसाब से सफेद या पीले रंग का इस्तेमाल नंबरों के लिए किया जाएगा |

गाडी पे सफ़ेद vs पीला नंबर प्लेट में क्या अंतर होता है?

वाहन में सफेद रंग की प्लेट का इस्तेमाल पर्सनल वाहन के लिए किया जाता है जिसे देख कर कोई भी आम आदमी समझता है की यह प्राइवेट वाहन है,  वहीं दूसरी ओर व्यवसाय को ऑन या सवारी ढोने वाले वाहनों पर पीले रंग का पीला नंबर प्लेट प्रयोग किया जाता है | 

वाहन कितने प्रकार के होते हैं?

वाहनों को तीन श्रेणियों में बांटा गया है –

  1. पेट्रोल या डीजल से चलने वाले वाहन इनसे  प्रदूषण ज्यादा होता है  पेट्रोल या डीजल से निकलने वाले धुएं में कार्बन की मात्रा ज्यादा होती है |
  2. सीएनजी से चलने वाले वाहन इनसे प्रदूषण थोड़ा कम होता है और जी गाड़ियां पेट्रोल तथा कंप्रेस्ड नेचुरल गैस ( सीएनजी )  के साथ आती हैं |
  3.  इलेक्ट्रिक वाहन आजकल इनका चलन ज्यादा हो रहा है इनमें लिथियम आयन  बैटरी लगी होती है जो इलेक्ट्रिक से चार्ज होती है  इनसे प्रदूषण नाम मात्र होता है |

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट क्यों जरूरी है?

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट उत्तर प्रदेश प्रत्येक वाहन के लिए आवश्यक है अन्यथा की स्थिति में भारी जुर्माना देना पड़ सकता है | इसके साथ ही नंबर प्लेट चोरी हुए वाहन को ट्रेस करने, आपराधिक गतिविधियों  में प्रयोग होने की स्थिति में HSRP  को आसानी से नहीं हटाया जा सकता क्योंकि यह एक गाड़ी के साथ पंच कर दिया जाता है इसके साथ छेड़छाड़ करना आसान नहीं होता |

 पहले नंबर प्लेट में नंबर स्टीकर के द्वारा चिपकाए जाते थे जिसको आसानी से हटा दिया जाता था  लेकिन हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट प्रेसिंग मशीन के द्वारा लिखे जाते हैं जिसको हटाया नहीं जा सकता  है | होलोग्राम स्टीकर लगे होने के कारण इसकी ट्रैकिंग सड़क पर लगे कैमरों के जरिए भी होती रहेगी |

नंबर प्लेट का चालान कितने का है?

नंबर प्लेट का चालान मोटर व्हीकल एक्ट 1988 की धारा 162 के अनुसार ₹5000 निर्धारित की गई है |  बिना नंबर प्लेट के वाहन चलाना वाहन अधिनियम 1988 का उल्लंघन है |  ऐसा करते हुए पाए जाने पर आपको ₹5000 का जुर्माना लग सकता है |

High Security number plate online Apply करके आप जल्द से जल्द अपने वाहन का नंबर  प्लेट हाई सिक्योरिटी वाला लगवा ले जिससे आप भारी जुर्माने से बच सकते हैं |

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट document

High security number plate document list Required

  • वाहन का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट
  • मोबाइल नंबर
  •  पेमेंट स्लिप 

अभ्युदय योजना रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट उत्तर प्रदेश Price

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट फीस अलग-अलग वाहनों के लिए अलग-अलग निर्धारित की गई है –

  • 2 व्हीलर वाहनों के लिए  रजिस्ट्रेशन फीस  लगभग ₹380 निर्धारित की गई है जिसमें  फिटिंग चार्ज भी इंक्लूड है 
  •  ऐसे टू व्हीलर वाहन जो अन्य राज्यों से लाए गए हैं उनका  फीस लगभग ₹500 निर्धारित किया गया है  जिसने फिटिंग चार्ज भी है
  • 3 व्हीलर वाहनों के लिए निर्धारित शुल्क लगभग ₹450 है इसमें भी फिटिंग चार्ज जुड़ा है |
  • 4 व्हीलर वाहनों के लिए निर्धारित शुल्क लगभग ₹1100 है जिसमें फिटिंग 4 इंक्लूड है |

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट उत्तर प्रदेश last date 

जिन वाहनों के रजिस्ट्रेशन नंबर  के अंत में 0 या 1 था उनका लास्ट डेट जुलाई 2021  था  जो बीत चुका है बाकी सभी नंबरों का  हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट रजिस्ट्रेशन की लास्ट तारीख नवंबर 2022 निर्धारित की गई है |

नवंबर 2022 के बाद भी सभी वाहनों का हाई सिक्योरिटी नंबर लाइसेंस के लिए रजिस्ट्रेशन चालू रहेगा लेकिन निर्धारित शुल्क में बढ़ोतरी हो सकती है |

 अंतिम तिथि का इंतजार ना करते हुए आप जल्द से जल्द क्रोमियम बेस्ट होलोग्राम हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट अपने वाहन में लगा ले |

  • जिन वाहनों के अंत में  0  या 1 है उनके अंतिम तिथि जुलाई 2021 थी
  • दो या तीन नंबर वाले वाहनों की आखिरी तिथि अक्टूबर 2021 थी
  • अंत में 4 और 5 नंबर वाले  वाहनों की आखिरी तारीख जनवरी 2022
  • 6 तथा 7  जिन वाहनों के अंत में है उनकी आखिरी तारीख 15 अप्रैल 2022 है
  • 8 तथा 9 जिन वाहनों के अंत में उनकी  लास्ट डेट 15 जुलाई 2022 है 

High security number plate for old vehicle

अप्रैल 2019 से पहले के सभी पुराने वाहनों का नंबर प्लेट बदलकर High security number plate for old vehicle लगाने के लिए सरकार ने निर्णय लिया है |  जिसके मद्देनजर पूरे भारत में कई सारे वेंडरों को चयनित किया गया है इसी तरह उत्तर प्रदेश में भी एक  फर्म का चयन किया गया  है |

अपने पुराने वाहन का हाई सिक्योरिटी वाला नंबर प्लेट लगाने के लिए  वेंडर की वेबसाइट पर जाकर  रजिस्ट्रेशन करके निर्धारित शुल्क को जमा करके लगवा सकते  हैं |

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट ऑनलाइन अप्लाई

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट उत्तर प्रदेश online आवेदन करने के लिए नीचे दिए गए नियम को फॉलो करें

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट उत्तर प्रदेश online
  • होम पेज पर ORDER YOUR HSRP NOW टैब पर क्लिक करें
  • फिर Vehicle Order Type, Vehicle Registration State, वाहन की कंपनी  तथा नंबर प्लेट लगाने का लोकेशन (जैसे एजेंसी में या घर पर) को चुने फिर NEXT  पर क्लिक करें
हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट उत्तर प्रदेश online
  • नेक्स्ट पेज पर गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर,   इंजन नंबर का लास्ट 5 डिजिट,  चेसिस नंबर  डालकर SUBMIT पर क्लिक करें | 
high security number plate
  • फिर वाहन का प्रकार, वान प्राइवेट है या कमर्शियल है,  वाहन स्वामी का नाम तथा पिन कोड डालकर नेक्स्ट करें
हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट उत्तर प्रदेश online
  • अब अपना एड्रेस भरें तथा अपना अप्वाइंटमेंट डेट चुने इसके साथ ही अपने अनुसार समय का भी चुनाव कर सकते हैं फिर नेक्स्ट बटन पर क्लिक करें 
  • अब अपना मोबाइल नंबर डालें और SEND OTP पर क्लिक करें
हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट उत्तर प्रदेश online
  • अपना ओटीपी डाल कर जैसे ही आप सबमिट करेंगे आपके सामने पेमेंट का ऑप्शन खुल जाएगा पेमेंट करके आप अपना हाई सिक्योरिटी नंबर रजिस्ट्रेशन बुक कर सकते हैं

यदि आप भी सोच रहे हैं कि गाड़ी के नंबर प्लेट कैसे बुक करें?  तो इस प्रकार आप अपने वाहन का HSRP  बुक करा सकते हैं |

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट ऑनलाइन अप्लाई पंजाब

HIGH SECURITY NUMBER PLATE ONLINE APPLY पंजाब,  उत्तर प्रदेश,  दिल्ली ही नहीं बल्कि पूरे भारत में अनिवार्य कर दिया गया है |

 भारत के किसी भी राज्य के निवासी हैं और आपके पास दोपहिया या चार पहिया वाहन है तो आपको हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवाना अनिवार्य है जिसे आप ऑनलाइन अप्लाई करके नहीं तो आपको जुर्माना देना पड़ सकता है | 

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट का ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया आपको ऊपर बता दिखाइए जैसे अपनाकर आप अपना आज कोठी नंबर प्लेट  लगा सकते हैं |

बाइक की नंबर प्लेट कितने दिन में आती है?

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट उत्तर प्रदेश online करने के 1 से 2 हफ्ते के भीतर ही आपके लिए गए लोकेशन जैसे डीलर शोरूम अथवा आपके होम एड्रेस पर प्राप्त हो जाएगी | अब अपने डीलर से  संपर्क करके  इसकी जानकारी ले सकते हैं |

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट की जांच कैसे करें?

  •  नंबर प्लेट पर नंबर प्रेशर मशीन द्वारा लिखे होने के कारण थोड़ा उभरे प्रतीत होंगे जिन्हें आप हाथों से छूकर पहचान सकते हैं
  •  नंबर प्लेट पर क्रोमियम बेस्ट होलोग्राम स्टीकर लगा होगा
  •  नंबर प्लेट एक विशेष प्रकार की टीम द्वारा गाड़ी के साथ फिक्स होगा
  • नंबर प्लेट को आप हाथों से घिसकर भी चेक कर सकते हैं जिससे नंबर मिटेगा नहीं

दोस्तों आशा करता हूं मेरे द्वारा दी गई हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट उत्तर प्रदेश online के बारे में जानकारी आपको अच्छी लगी |  इस पोस्ट में हमने HIGH SECURITY NUMBER PLATE ONLINE APPLY से संबंधित सारी जानकारी  आपसे सांझा  की है |  मेरी अभी कोई सुझाव आया तुम्हें कमेंट के माध्यम से अवश्य बताएं |

बाइक की नंबर प्लेट कैसे ऑनलाइन करें?BOOK NOW
हमारी वेबसाइटgraminyojana.com

महत्वपूर्ण प्रश्न

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट कब तक लगेगी?

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट की आखिरी तारीख 15 जुलाई 2022 है |

is high security number plate mandatory for old vehicles in up

Yes,  a license plate is mandatory for all types of vehicles.

ग्रीन नंबर प्लेट किसकी होती है?

सभी इलेक्ट्रिक वाहनों का नंबर प्लेट हरे रंग का होता है जिस पर सफेद रंग का नंबर लिखा होता है | 

प्राइवेट व्हीकल की नंबर प्लेट को कौन से कलर से लिखा जाता है?

सफेद रंग के बैकग्राउंड पर नंबरों को काले रंगों से लिखा जाता है इनका प्रयोग व्यावसायिक नहीं हो सकता है |

भारत में किसकी कार पर नंबर प्लेट नहीं लगी होती है?

भारत में  राष्ट्रपति,  वीवीआइपी तथा राज्यों के राज्यपालों के  वाहनों पर नंबर प्लेट नहीं लगी होती है |

भारत में गाड़ियों की नंबर प्लेट पर Ind क्यों लिखा होता है?

आरटीओ से प्राप्त hsrp  पर होलोग्राम के नीचे आईएमडी लिखा होता है इसका मतलब यह सभी नंबर प्लेट आरटीओ द्वारा जारी किए गए हैं जो टैंपर प्रूफ और स्नैप लाक आधारित है | 

राष्ट्रपति के पास कौन सी गाड़ी है?

राष्ट्रपति के पास जो वाहन होता है उस पर कोई भी नंबर प्लेट नहीं लगा होता है |

भारत में अलग अलग रंग की नंबर प्लेट क्यों होती है?

भारत में अलग-अलग कामों में प्रयोग होने वाले वाहनों के हिसाब से नंबर प्लेट का रंग भी अलग अलग रखा गया है इससे  उनके  उपयोग की जानकारी आसानी से प्राप्त हो जाती है |

यूपी में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट कब से लागू है? 

जुलाई 2021 से यूपी में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट को लागू कर दिया गया है |

मैं यूपी में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट कैसे बुक करूं?

HSRP बुक करने के लिए आपको ऑफिशियल साइट पर जाना होगा और  अपने रजिस्ट्रेशन नंबर के साथ निर्धारित शुल्क देखकर  हाई सिक्योरिटी लाइसेंस वाला नंबर  बुक कर सकते हैं |

Leave a Reply